Blog क्या है | what is Blog in Hindi

नमस्कार दोस्तों आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे आपका हार्दिक स्वागत है हमारा इस लेख में आज के इस लेख में हम Blog क्या है what is blog in Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से प्राप्त करने वाले हैं और इसके बारे में हम जानने भी वाले हैं।

दोस्तों कई सारे लोग को जानना चाहते हैं कि आखिर blog क्या होता है और blog कि कितने प्रकार होता है और blog खुद से कैसे बनाया जाता है और blog के फायदे क्या क्या होते हैं तो हम सभी ने इस लेख में इसी के बारे में चर्चा किया है और आप सभी को blog से जुड़ी सभी जानकारी को बताया है।

अगर आप ब्लॉग से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं तो आपसे अनुरोध है कि आप मेरे इस लेख को ध्यान से पूरा अंत तक पढ़े तभी आपको मेरा यह लेख अच्छे से समझ में आएगा। तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए और जानते हैं इसके बारे में सभी जानकारी

Rediffmail क्या है और Rediffmail पर अकाउंट कैसे बनायें ?

Blog क्या है ?

Blogs: The Essential Tool for Any Apparel Business - Learning Center

दोस्तों अगर आप जानना चाहते हैं कि आखिर Blog क्या होता है तो आप हमारे इस टोपी के साथ ऑन तो तक बने रहिए क्योंकि हम इस टॉपिक में जानने वाले हैं आखिर Blog होता क्या है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Blog एक तरह का website ही होता है, जहाँ ओर लोग अपना knowledge और बेहतर तरह के information और जो वो जानते है उसे share यानी कि साझा करते हैं।

क्या आपको मालूम है कि हर रोज लाखो, करोडो के कदात में लोग अपनी problems ( समस्याओं ) की solution ( हल ) निकालने के लिए Google या bing या yahoo या फिर अलग अलग तरह के search engines में वी search करते हैं।

इसका मतलब ये नहीं है के search engine लोगो के सभी तरह के सवालों  और problems की solutions रखता है। अगर आप ऐसा सोच रहे है तो आप बिलकुल गलत है जो भी जानकारी आप search engine में पाते है वो सब एक blog ही होता है।

अगर हम आपको blog के बारे में सरल भाषा मे समझाना चाहे तो blog या (web log) असल  में एक ऐसा वेबसाइट होता है जिसे की निरंतर समय के हिसाब से उस के  update किया जाता है, वहीँ इसमें नए नए content को अक्सर publish किया जाता रहता है Blogger या wordspress या कई  चीज़ों के द्वारा। वहीँ blog को एक आम बातचीत करने वाली शैली ( informal या conversational style )  में भी  लिखा जाता है ।

वहीँ आमतौर पर इस का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगों को जानकारी देना और ढेर सारे लोगो को अपनी ओर आकर्षित करने का भी होता है और साथ ही कुछ ऐसे तरह के भी लक्ष्य को हासिल करने का होता है, वो चाहे एक बड़ी ही community-building हो या खुद का  एक business को grow करना, या लोगों को सही जानकारी और उनके परेशानी को हल पहुँचाना भी हो सकता है।

एक blog को हम मूल रूप से एक पत्रिका भी कह सकते है जो web पर मौजूद है। आपको मालूम ही होगा कि blog update करने का काम ‘ blogging’ कहलाता है और जिसके पास blog है वह ‘ blogger’ कहलाता है।

blog software की मदद से आमतौर पर रोजाना update होते रहते है जो लगभग सभी तरह के तकनीक के सभी यरह के कम जानकार और बिना किसी तरह के तकनीकि पृष्ठभूमि वाले लोगों को इसे update और संभालने मे बहुत ज्यादा मदद करता है। blog spot को हमें शा कालानुक्रमित क्रम यानी कि (chronological order) में भी व्यवस्थित किया जाता है जिसमें हालिया posting सबसे ऊपर प्रकट होती है।

जैसे कि हमने आपको ऊपर में बताया कि blog एक website है जिस पर आइटम्स और जानकारी नियमित रूप से post किए जाते है और जो उल्टे कालानुक्रमित क्रम यानी कि (chronological order) में पूरे तरह से प्रदर्शित होते है।

Blog शब्द जो होता है वे weblog के अथवा web log का संक्षिप्त रूप भी है। जैसे कि  blog लिखना, blog संभालना अथवा मौजूदा blog में एक लेख जोड़ना ‘blogging’ कहलाता है। blog पर अकेला लेख होता है जो कि  ‘ blog posts’ ‘ posts’ Entries’ यानी कि ‘प्रविष्टियां’ भी कहलाती है। जो व्यक्ति इन Entries को अच्छे तरह से प्रकाशित करता है उसे ‘blogger’ कहते है।

क्या आपको पता है कि एक ब्लॉग़ में text, hypertext, images और links (दूसरे web page, video, audio तथा अन्य फाईलों के लिए) भी अच्छे से शामिल है। blog पर दस्तावे जीकरण संवादी शैली यानी कि (document writing conversational style) में होता है।

अक्सर blogs का ध्यान किसी “विषय-विशेष’ पर ही रहता है। जैसे की Washington डी. सी. की राजनीतिक चालें। कुछ ब्लॉग व्यक्तिगत के बेहतर अनुभवों पर चर्चा करते है और अगले टॉपिक में blog से जुड़ी कुछ जानकारी को प्राप्त करते है।

Yahoo क्या है और Yahoo कैसे काम करता है?

Blog का इतिहास (Blog History in Hindi) ?

दोस्तों अगर आप blog के इतिहास के बारे में जानना चाहते हैं तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ब्लॉगिंग के शुरुआती दिनों में blog शब्द का उतना प्रचलन नहीं था। जब शाल 1994 में माननीय जिनका नाम ‘Justing Hall’ था उन्होंने ने दुनिया का पहला blog बनाया था जिनका नाम उन्होंने Links.net रखा था, जो उस समय Swarthmore College में पढ़ते थे और वो के छात्र थे, उस समय इस blog शब्द का जन्म नहीं हुआ था।

पहली बार जब शाल 1997 में ‘Weblog’ शब्द माननीय जिनका नाम था  ‘John Barger’ इन्होंने इसे गढ़ा जो Robot Wisdom एक blog के लेखक थे । मगर, आज के तैर पर असली शब्द जिसे हम इस्तेमाल करते है blog के नाम से वो – Blog, माननीय ‘Peter Merholz’ जी के द्वारा शाल 1999 में Weblog को छोटा से छोटा कर के ‘Blog’ रख दिया गया।

और क्या आपको मालूम है कि इस के बाद इसी blog शब्द के आधार बना कर “Blogger.com” को भी बनाया गया जो, असल में Pyra Labs नामक ब्यक्ती द्वारा विकसित blogging टूल था। मगर वर्तमान में इसका स्वामित्व गूगल के पास चला गया है।

दोस्तों क्या आपको पता है कि यहीं से blogging यात्रा की शुरुआत हुई और इंटरनेट पर ब्लॉग्स कि बरसात होना भी शुरु हो गई, क्योंकि अब blog लिखने के लिए आपको programming सीखने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है।

आज के दौर में यह सारा काम “Blogger” कर रहा है. जो पहले भी कर रहा था। ब्लॉगर की कामयाबी से लगभग पूरे तरह से प्रभावित होकर एक नया open source blogging tool जिसका नाम “WordPress” था इसकव भी पहला संस्करण पेश किया गया। जिसे खूब बेहतर तरह से सराहा गया और आज दुनिया की लगभग एक तिहाई से भी ज्यादा blog एवं website WordPress का इस्तेमाल बड़े ही खूबसूरत तरह से कर रही है।

दोस्तों क्या आप जानते है? अमित अग्रवाल जी पहले भारतीय माने जाते है जिन्होने bloging कि शुरुआत भारत मे की थी और आज ये bloging से ही अपनी पूरे तरह से जीविका चला रहे है। इन की site की नाम Labnol.org था इन्होंने इस पर आप अमित अग्रवाल के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है।

blog अभी बहुत अच्छी अवस्था में पहुँच चुका है और कुल ढाई दशक पूरानी तकनीक का लोग इस्तेमाल कर रहे  है। मगर इन 25 सालों में बहुत कुछ बदल चुका है और इस ब्लागिंग के फील्ड में नए-नए tool भी बनाया गया है तथा कितने ही पूराने tool बदल गए या और कुछ तो बंद हो गए है। इस पूरे घटनाक्रम को हमने Blog History Timeline में दिखाया है आपको अच्छे से समझाने के लिए. जिसे पढ़कर आपको blogging industry में हुए उतार-चढ़ाव समझने में मदद मिलेगी.

Blog History Timeline

दोस्तों हमने आपको Blog के कुछ ऐतिहासिक टाइमलाइन को स्टेप बाय स्टेप लिखकर आप को समझाने की कोशिश की है कि किस तरह से Blog का विकास हुआ और इसका ऐतिहासिक टाइम क्या रहा है तो चलिए देखते हैं इसको

  • 1994 – Swarthmore College के एक छात्र जिनका नाम Justing Hall था इन्होंने अपना खुद का  पहला blog “links.net” बनाया था।
  • 1997 – में  Jorn Barger नाम के बेयक्ति  द्वारा “Weblog” शब्द का निर्माण किया गया था।
  • 1998 – और क्या आपको पता है कि Hurricane Bonnie को पूरे तरह से cover करने वाले Jonathan Dube ने पहली बार weblog पर किसी news site पर इस तरह story को कवर की।
  • 1999 – Peter Mertholz ने शब्द “Weblog” को से उसका नाम  “Blog” में बादल दिया। इसी साल तीन दोस्तों ने मील कर के startup खोल जिसका नाम  Pyra Labs  ने ब्लॉगिंग tool “BLOGGER” को बनाया।
  • 2002 – blogging search engine “Technorati” भी पेश किया गया।
  • 2003 – Pyra Labs ने BLOGGER को google को बेच दिया  इसी साल WordPress का पहला संस्करण भी लंच हुआ था और “Typepad” bloging सेवा भी धीरे धीरे शुरु हुई।
  • 2004 – Garfield ने पहला video से आधारित ब्लॉग को शुरु किया और इसे पहला विलॉग्स  के रूप में समझा जाता है।
  • 2005 – AOL द्वारा उस समय लगभग $25 मिलियन में Weblogcs, Inc को खरीद लिया गया था।
  • 2006 – Technorati की रिपोर्ट के आधार पर 50 million blog होने की बात भी उस समय  कहीं गई थी और Mashable Blog भी lunch किया गया था।
  • 2007 – और उस समय  शाल 2007 में Tumblr की भी शुरुवात की गई थी और Tim ‘O’ Reilly द्वारा bloggers के लिए Code of Conduct बनाए गए थे।
  • 2008 – Posterous भी उसके एक साल बाद lunch हुई जिसके द्वारा bloggers short updates दे सकते थे।
  • 2011 – google ने एक नई सेवा भी Google+ शुरु की।

तो दोस्तों कुछ राही blog का इतिहास रहा है चलिए अपने टॉपिक को शुरू करते हैं और blog से जुड़ी कुछ जानकारी प्राप्त करते हैं।

Blocked Website को Open कैसे करें

ब्लॉग के प्रकार – Types of Blog in Hindi?

Why Your Students Should Blog: 6 Powerful Benefits | Emerging Education  Technologies

दोस्तों जब हम blog से जुड़ी जानकारी को प्राप्त कर ही रहे हैं तो हमारे मन में ख्याल आया क्यों ना आपको blog के प्रकार के बारे में भी बता दिया जाए तो आप अगर blog के प्रकार के बारे में जानना चाहते हैं तो कृपया आप हमारे इस टॉपिक के साथ बने रहे क्योंकि हम इस टॉपिक में आपको बताएंगे कि ब्लॉक के कितने प्रकार होते हैं ।

तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि blogs को कई प्रकार में बाटा जा सकता है ये इसमे लेखन के अनुसार और उसके आधार पर, प्रस्तुति किया जाता है आप किसी भी चीज़ में blog को बाट सकते है , blog तकनीक के आधर पर भी बटा जा सकता है इस प्रकार अन्य तरीके भी है जो blog को काफी अलग अलग प्रकार से बाट सकते है। मगर यहाँ पर हम blog के सबसे अधिक प्रचलित 5 से 6 प्रकारों के बारे में बात करेंगे और उनके बारे में हमने नीचे में बता भी रखा है।

Computer में Android app कैसे चलाये और install करें

Personal Blogs

Personal Blogs एक online डायरी है जो की web या कह सकते है कि इंटरनेट पर प्रकाशित होती है। इस डायरी यानी कि  (blog) में समूह या संगठन नही, एक व्यक्ति,  अपने निजि विचार को share करता है।

इस लिए इस प्रकार के blog को उसके परिवार के सदस्यों,  दोस्तों, रिश्तेदारों, कार्यालय कर्मीयों के अलावा थोडे बहुत ही पाठकों को अपनी तरफ आकर्षित जो पाते है मतलब की आपका खुद के बारे में ब्लॉग है तो उसे आप से जुड़े लोग देखना पसंद करेंगे। मगर, आजकल personal blogging पेशेवर के भी कई सारे तरीके से की जाने लगी है।

इसलिए इस प्रकार के blog भी बहुत सारा traffic अपने ओर आकर्षित कर रहे है और कई सारे लोग का पैसा कमाने का साधन भी जुटा रहे है। जी हां. दोस्तों आपको जानकर के हैरानी होगा कि आप एक blog से अच्छा खासा पैसे भी कमा सकते है।

आजकल ब्लॉगिंग से पैसे कमाने का ट्रेंड भी बहुत चल रहा है (इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए गूगल  पर आप सर्च करिए, “ब्लॉग/ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाये”‌ आपको बहुत सारे तरीका भी मिल जाएंगे और पेशेवर blogger full time इनकम अपने personal blog से कमाने में अच्छे तरह से कामयाब हो रहे है।

Mobile App खुद से kaise बनाये

Group Blogs

किसी Blogs को एक से अधिक लोगों के द्वारा लिखा जाता है तो ऐसे Blogs होते है वो group log कहलाते है। ये blog ज्यादा बडी संख्या में अपने सभी पाठकों को काफी अच्छे ढंग से प्रभावित भी करते है और इनका traffic भी personal blog से कई गुना ज्यादा होता है।

साथ ही साथ ये  engagement भी इसमे ज्यादा अच्छे तरीके से करने में कामयाब हो पाते है। इस तरह के ब्लॉग एक से ज्यादा topic पर लिखे जाते है. एक blogger सिर्फ एक टॉपिक पर अपने विचार को बेहतर तरह से व्यक्त करता है और अन्य blogger अपने पसंद के अन्य topics पर अपने विचार व्यक्त करते है।

और हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि इसका एक बड़ा फायदा ये भी होता है कि blog संभालने का काम छोटे छोटे टुकड़ों में बट जाता है इसलिए सिर्फ एक ही व्यक्ति पर काम का दबाव नहीं रहता है क्योंकि यह एक group blog होता है।

Micro Blogs

दोस्तों अगर आप social media का उपयोग करते होंगे तो आप ने beta का नाम तो जरूर ही सुना  होगा और इसको उपयोग भी करते होगें। तो क्या आपको मालूम है कि Twitter अपने उपयोगकर्ता को केवल 140 characters लिखने की ही अनुमति देता है।

इसे ही आमतौर पर  micro blog  कहते है और  micro blogging  करने का काम ही आमतौर पर  micro blogging कहलाता है। और क्या आपको मालूम है कि  Twitter के अलावा Facebook, tumbler, koo जैसे आदि  platforms इस तरह के सेवा को बेहतर तरह से  मुहैया करा रहे है।

इसका उपयोग  लेखक, गायक,राजनेता, अभिनेता, आदि तरह के बडे बडे लोग अपने नए शॉ, अपने किताबों, अपने फिल्मों तथा अन्य तरह के updates अपने सभी followers को बताने के लिए भी करते है। इससे उनके followers के साथ इनका जुडाव काफी ज्यादा मजबुत बना रहता है।

इसलिए social media site पर इन celebrity i के लाखों-करोडों की संख्या में fan following होती है और क्या आप जानते है कि social media site पर followers की संख्या कामयाबी का status भी समझा जाता है।

Aggregated Blogs

कुछ Blogs अपनी पोस्ट में संबंधित अन्य Blog को भी उसमे शामिल कर देते है। या फिर किसी topic, product, या किसी तरह के सेवा से जुडे हुए post साझा यानी कि share करते है।

आमतौर पर  इस तरह के करने पर पाठकों को एक ही जगह पर एक टॉपिक से जुडी हुई कई तरह के जानकारी प्राप्त हो जाती है। आमतौर पर ऐसे तरह के blog को ही हम Aggregated Blogs कहते है।

Business Blogs

दोस्तों जब हम Blogs के प्रकार के बारे में बात करते हैं तो उसमें Business Blogs का नाम जरूर आता है तो हम आपके जानकारी के लिए बता दें कि कई सारी software companies, private salesman, और कुछ तरह के  गैर-सरकारी संगठन अपने कर्मचारियों को पूर्ण रूप से समय समय पर update देने के लिए blog का ही बेहतर ढंग से उपयोग करते है।

इस प्रकार का blog केवल  कर्मचारियों तक  ही सीमित होता है और कोई अन्य व्यक्ति उसे नहीं बिलकुल भी नही पढ सकता है। इस प्रकार के blog को ही हम सब Business Blogs के नाम से जानते  है. क्योंकि इनका उपयोग एक कॉम्पनि विशेष द्वारा अपने कर्मचारियों के लिए ही होता है इसलिए इन्हे कुछ जगहों पर Corporate Blogs के नाम से भी है।

कंपनिया,  संगठन आदि नई सूचना, सदस्यता क्ल्ब, ग्रुप्स, मीटिंग्स की जानकारी, बिजनेस रिपोर्ट, और अपने लोगो को उपडेट देने के लिए आदि के मकसद से share करने के लिए blogs का इस्तेमाल किया जाता है । इस तरह update देने से कम समय मे लगभग सभी कर्मचारियों तक सूचना काफी आसानी से पहुँच जाती है। इस प्रकार के blog को आमतौर पर निजी ब्लॉग भी कहा जाता है।

वहीं दूसरी तरफ कुछ business अपने नए ग्राहकों तक पहुचने के लिए भी blog का इस्तेमाल काफी अच्छे ढंग से कर रहे है। बिज़नेस अपने product के अथवा और अपने सेवा से संबंधित लगभग सभी जानकारी को ब्लॉग के माध्यम से share करके नए संभावित तरह से अपने ग्राहकों को अपने बिजनेस के वेबसाईट पर लाया जा रहा है ।

यह तरीका अन्य marketing साधनों से ज्यादा सस्ता साबित हो रहा है। इसलिए इस प्रकार के ब्लॉग्स की संख्या दिनो पे दिन काफी अच्छी संख्या में बढ़ती ही जा रही है।

खुद का ब्लॉग कैसे बनायें – How to Make a Blog in Hindi?

दोस्तों blog से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने के बाद अगर आपके मन में ख्याल आ रहा है कि आखिर हम खुद का ब्लॉग कैसे बनाएं तो हम आपको बता दें कि आप बिल्कुल भी ना घबराए क्योंकि हम आपको इस टॉपिक में बताएंगे कि आपकी तरह से खुद का blog बना सकते हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि blog बनाना अब बहुत ही आसान हो चुका है यह बस कुछ मिनटों का काम हो गया है।

आज के जवाना में आपको  programming सीखने,  computer या laptop खरीदने तथा college या फिर किसी संस्था से इसके लिए ट्रैनिंग लेने की भी कोई भी आवश्य्कता नहीं है। क्योंकि  आपको अपना खुद का blog बनाने के लिए आपको इन सब चीजों की कोई भी जरूरत नहीं है आप blogging tools की सहायता से कुछ ही मिनटों में अपना एक बेहतरीन तरह का blog बनाकर पहली post भी publish कर सकते है।

आपको अपना ब्लॉग बनाने के लिए इस सभी निम्न चीजों की जरुरत पडने वाली है नही तो आपको blog बनाने में दिक्कत हो सकती है।

  • Domain Name
  • Hosting
  • SSL Certificate
  • Some Knowledge

Domain Name

Domain Name यह आपके blog का नाम होता है. यानि जैसे कि  00000.com यह एक डोमेन नेम है जैसे किसी नाम के अंत मे ( .in, .com, .net, .xyz, etc ) इसी तरह आपको भी एक अपने blog के लिए एक Domain Name खरीदना पडेगा।

जिसे आप Domain Name register किसी भी Domain बेचने वाले वेबसाइट से से 500 से 1000 रुपये से भी कम दाम में खरीद सकते है।

Hosting

आपको internet से जुडने के लिए सबसे पहले internet connection और internet का server की जरूरत पडती है जो 24 घंटे लाइव रह सके। ऐसा server जो हमें web hosting कंपनियों द्वारा उपलब्ध करवाया जाता है।

जहां पर हमारा blog content तथा अन्य आवश्यक tools एवं सामग्री भी अच्छे तरह से store रहती है।

hosting में हमें एक खुद का internet का server मिलता है जो कि लोग उसे hosting के रूप में जानते है। इस server पर हम blogging tool (जैसे WordPress) install करते है और domain name तथा hosting को एक-दूसरे से connect करते है तब जा कर के यह काम हो जाने के बाद हमारा blog लगभग तैयार हो जाता है। 

SSL Certificate

दोस्तों हम आपके SSL Certificate के जानकारी के लिए बता दे कि blogging के शुरुआती दिनों में इसकी जरूरत नहीं थी. मगर, आज के दौर में इसके बढ़ते हुवे प्रभाव और commercialization के कारण इसका प्रयोग अब कइ तरह के गैर-कानूनी तरीके से भी पैसे कमाने तथा उपयोगकर्ता की personal जानकारी को चुराने के लिए भी होने लगा है ।

e-commerce के कारण ये सब तरह तरह के घटनाएं बढ़ने की ज्यादा संभावना थी। इसलिए सभी sites को SSL Certificate install करना अब अनिवार्य  हो गया है।

 यदि आप भी अपना खुद का blog बनाना चाहते है तो domain name और hosting के साथ Secure Sockets Layer Certificate जरूर install करें। अगर आपके पास ये तीन चीजें अच्छे तरह से हैं तो आप थोडें से internet और computer ज्ञान तथा common sense का इस्तेमाल करके अपने  blog शुरु कर सकते है।

हमने आपको जितने भी जानकारी बताया उसको आप अपने कंप्यूटर स्क्रीन पर सही ढंग से करके अपना खुद का blog काफी आसानी से बना सकते हैं अगर कहीं आपको दिक्कत होती है तो आप इंटरनेट की मदद ले सकते हैं इंटरनेट पर आपको कई सारे इससे जुड़ी जानकारी आसानी से मिल जाएंगी जिसके मदद से आप अपना blog बना पाएंगे।

ब्लॉग़ के फायदें – Advantages of Blog in Hindi?

दोस्तों अगर आप blog के फायदे के बारे में जानना चाहते हैं तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ बने रहिए क्योंकि हम आपको इस टॉपिक में blog के फायदे के बारे में बताने वाले हैं। हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह blog का फील्ड पहले से कई ज्यादा बड़ा हो चुका है और कई लोग तो अपना इसमें कैरियर भी बना चुके हैं ।

और लगभग आज के डेट में सैकड़ों blog रोज बन रहे हैं आप और उन ब्लॉग पर लगभग लाखों के कदात में post upload किए जा रहे हैं और लोगों को जानकारी भी प्राप्त किए जा रहे हैं। हमने आपको नीचे में ब्लॉक से जुड़ी कुछ बेहतरीन फायदे के बारे में बताया है आप उन्हें पढ़ ले

दोस्तों blog बनाने का सबसे बड़ा फायदा यह भी है कि आप इसकी मदद से ढेर सारा पैसा भी कमा सकते हैं कई सारे लोग ऐसे हैं जिन्होंने इस पर मेहनत करके लोगों की मदद भी की है और काफी ज्यादा पैसा भी कमा रहे हैं ।

इन पर आप जो भी कंटेंट अपलोड करते हैं और आप अपने साइड को गूगल ऐडसेंस से आप approve करके और जब आपका साइड गूगल ऐडसेंस से approve हो जाएगा तब आपके site पर ads चलेगा और जब चलेगा तो लोग अगर आपके site  पर आएंगे और ads पर क्लिक करेंगे तो आपकी कमाई होगी तो कुछ इस तरह से लोग blog बनाकर पैसे भी कमा रहे हैं।

यह जरूरी नहीं है कि आप केवल गूगल ऐडसेंस से ही पैसा कमा सकते हैं कई सारे लोग ऐसे हैं जो affilate मार्केटिंग और कई नए-नए तरीकों का इस्तेमाल करके blog बना करके पैसा भी कमा रहे हैं और इसके मदद से आप अपना एक पहचान भी बना सकते हैं।

दोस्तों blog बनाने का यह भी फायदा होता है कि जिस किसी भी चीज में आप माहिर है उन चीजों को आप लोगों को बता कर के आप अपने और लोगों को आकर्षित कर सकते हैं और अगर आपको किसी भी चीज का ज्ञान है और वह लोगों के बीच शेयर हो सकता है तो आप उसे शेयर करके एक अच्छा खासा नॉलेज अगेन कर सकते हैं और लोगों की मदद करने के साथ-साथ अच्छा खासा पैसा भी कमा सकते हैं।

दोस्तों ब्लॉक बनाने का फायदा यह भी होता है कि आप पहले की अपेक्षा लोग इस पर ही अपना पर्सनल ब्रांडिंग कर रहे हैं और अपने बिजनेस को भी इसके मदद से आगे ले जा रहे हैं और कई सारे लोग ऐसे भी हैं जो इसके मदद से ही अपने ज्ञान को प्राप्त कर रहे हैं तो इससे लोगों का भी काफी ज्यादा भला हो रहा है

[ Conclusion, निष्कर्ष ]

दोस्तो आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख Blog क्या है what is blog in Hindi आपको बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से वह सभी जानकारी को पूरा विस्तार से प्राप्त कर चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे।

हम ने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आप Blog से जुड़ी सभी जानकारी को देने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम है कि कई सारे लोग ऐसे भी हैं जो जानना चाहते हैं कि blog क्या होता है और blog कि कितने प्रकार होता है और blog खुद से कैसे बनाया जाता है और blog के फायदे क्या क्या होते हैं।

तो इन सभी लोगों के लिए ही हमने इस लेख को पूरे विस्तार से लिखा था और इतने आसान भाषा में समझाया था कि कोई भी छोटा बच्चा या बुजुर्ग काफी आसानी से इस लेख को समझ सकता है और आप पर मेरा संपूर्ण विश्वास है कि आप भी मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़ चुके होंगे और इससे जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त कर चुके होंगे।

अगर दोस्तों आपको इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह को,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं।

हमारी समूह आपकी मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि यह पोस्ट what is blog in Hindi के बारे में जानकारी आपको कैसा लगा ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे। तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमरा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………

Leave a Comment