Data क्या होता है और इसके कितने Types होते हैं ? | What is data in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज के इस नए आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं Data क्या है | What is Data in Hindi? के बारे में, क्योंकि दोस्तों आपने कभी ना कभी data शब्द जरूर सुना होगा।

लेकिन क्या आपको पता है कि Data क्या होता है और डाटा कितने प्रकार के होते हैं दोस्तों अगर आपको Data से जुड़ी कोई भी जानकारी नहीं है तो आप हमारे इस आर्टिकल को पढ़ सकते हैं क्योंकि इस आर्टिकल में हमने डाटा से जुड़ी बहुत सारी जानकारियां दी है जिनको पढ़कर आप data के बारे में एक काफी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं

दोस्तों हमने इस आर्टिकल ने बताया है कि डाटाबेस क्या है। Database के फायदे क्या है, Database कहां उपयोग किया जाता है, दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि डाटा हमारे जिंदगी में कितना ज्यादा आवश्यक है क्योंकि आजकल सारे चीज डाटा में स्टोर किया जा रहा है ।

वैसे डाटा सिर्फ एक कंप्यूटर से सम्बंधित term नहीं है  बल्कि कुछ भी डाटा के रूप में हो सकता है जैसे की किसी देश की जनसंख्या,  किसी school की संख्या, कर्मचारियों की संख्या,  यूजर्स की संख्या, अस्पतालों में मरीजों की संख्या, इत्यादि. ये सभी चीज़ें इनके Data form में organized या structured होती है।

और इसके अलावा हम लोग इस आर्टिकल में जानेंगे कि Information क्या है, Data कैसे Store किया जाता है और Data Processing क्या है और आर्टिकल के अंत में  हम बात करेंगे Data Processing के Methods क्या है इसके बारे में, दोस्तों अगर आप इन सारी जानकारियों को प्राप्त करना चाहते हैं और डेटा के बारे में पूरा विस्तार से जानना चाहते हैं तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा विस्तार से जरूर पढ़ें ताकि आपको Data और इससे जुड़ी सारी जानकारी मिल सके।

तो दोस्तों बिना कोई टाइम बर्बाद किए हुए चलिए अब इस लेख को शुरू करते हैं ।

Top 10 best English sikhane wala app

डेटा क्या होता है? (What is data in Hindi)

Data - Wikipedia

दोस्तों आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर data क्या होता है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हम इस टॉपिक में इसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने वाले हैं तो कृपया करके आप हमारे टोपीक के साथ बने रहे तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को ।

Data को हम ऐसे कह सकते हैं की यह एक किसी तरह का representation होता है instructions, facts या concepts,का एक formalized manner में, जो की अच्छे तरह से उस में suitable होता है communication , interpretation, या processing के लिए इन्सान या electronic machine के द्वारा भी इसे किसी खास चीज़ में स्टोर किया जाता है।

आपके जानकारी के लिए हम बता दे कि Data को हम किसी भी characters के मदद से represent यानी कि ( show ) भी कर सकते हैं जैसे की किसी तरह का अल्फाबेट, alphabets ( a-z, A-Z), digits यानी कि संख्या (0-9) या किसी तरह का कोई special characters (+,-,/,*,<,>,#,=) इत्यादि जैसे को हम डेटा कहते है।

आमतौर पर ये data कुछ भी हो सकता है किसी तरह का कोई भी character, pictures, text, numbers, sound, number, special character, या फिर video, इत्यदि भी डेटा रूप हो सकते है। वहीँ अगर इस तरह के data को कोई context में नही डाला गया तब इसका कोई भी किसी तरह का काम नहीं होता है चाहे वो किसी भी इन्सान के लिए या फिर कोई डिवाइस के लिए किसी काम का नही रहेगा यह।

आपको जानकारी के लिए बता दे की Data अपने raw form में किसी के लिए भी कोई काम का नहीं होता है। लेकिन अगर हम उसी data को जब interpret और process करते हैं तब जाकर उनका सही मतलब उनका मान हमारे सामने आता है, और तब जा कर के यह हमारे लिए बहुत उपयोगी होते हैं। इन्ही तरह के processed data को हम आमतौर पर Information भी कहते है।

Bootable Pendrive कैसे बनाए ?

डाटा के प्रकार ( Types of Data in Hindi )

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में विस्तार से जाना कि Data क्या होता है उसको जानने के बाद आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर डाटा कितने प्रकार के होते हैं क्योंकि हमें Data के प्रकार को पहचानने में काफी ज्यादा दिक्कत होती है और कितने सारे लोगों को डाटा के प्रकार भी नहीं मालूम होते हैं अगर आपको Data के प्रकार के बारे में जानना चाहते हैं तो आप हमारे टोपीक के साथ बने रहे हम इस टॉपिक में इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं।

 हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आपको पता ही होगा computer system में कई अलग अलग विभिन्न प्रकार के data साथ काम करते हैं । जैसे की text, audio, numbers, images, video और graphics, लेकिन computer में इस तरह के  सभी data types को binary digits (आपके उदाहरण के लिए 0101 ) में ही stored होता है यानी कि रहता है ।

Fake Aadhar Card Maker app से नकली आधार कार्ड  कैसे बनाये।

Alphabetic Data

दोस्तों अगर हम Data के पहले प्रकार के बारे में बात करें तो डाटा का पहला प्रकार Alphabetic Data होता है। इस टाइप के Data आपको मालूम ही होगा, यह सभी वर्णमाला यानी कि अक्षरों से बना data होता है।

जैसे की अगर हम English Alphabetic में देखे तो  A से लेकर इसके अंत Z तक और हिंदी में क, ख, ग, य, या  आदि जैसे कई सारे । इस type के डाटा को हम Alphabetic Data के नाम से जानते है। और इसमें capital letters यानी कि बड़े अक्षर or lowercase छोटे अक्षर भी शामिल होता है।

Hacking क्या होता है? | What is hacking in Hindi  

Numerical Data

दोस्तों अगर हम Data के दूसरे प्रकार के बारे में बात करें तो डाटा का दूसरे प्रकार Numerical Data होता है यानि हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि 0 से लेकर 9 तक Numbers यानी कि ( संख्या ) से बानी डाटा को ही Numerical Data कहा जाता है।

जो Numerical Data पर Arithmetic functions बन साके, जैसे weight, amount, time, height, आदि भी हो सकता है ये data के ही प्रकार होते है।

Alphanumeric Data

दोस्तों अगर हम Data के दूसरे प्रकार के बारे में बात करें तो डाटा का दूसरे प्रकार Alphanumeric Data होता है हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि इस प्रकार के data, alphabetic और numerals characters से पूरी तरह सर बनी होती है। यानि 0 to 9 और A to Z, दोनो होता है।

Special Characters

दोस्तों अगर हम Data के दूसरे प्रकार के बारे में बात करें तो डाटा का दूसरे प्रकार Special Characters होता है हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि इसमें सिर्फ special characters ही होता है, जैसे की $ Dollar sign ₹ rupee sign ¥, €, ¢, £, % Percent, # hashtag, & Ampersand आदि कई तरह के special characters भी डेटा के प्रकार में शामिल होते है।

Sound Data

दोस्तों अगर हम Data के दूसरे प्रकार के बारे में बात करें तो डाटा का दूसरे प्रकार Sound Data होता है हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि इस Type के data में recording, mass-production audio technologies, manipulation, उपयोग किया गया है।

जो गाने की recording, podcasts,  sound effects, आदि इस तरह के सभी चीज़ भी डेटा के रुप मे शामिल होता हैं।

Graphics Data

दोस्तों अगर हम Data के दूसरे प्रकार के बारे में बात करें तो डाटा का दूसरे प्रकार Graphics Data होता है हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि इसमें computer का उपयोग करके बनाई गई तस्वीरें और फिल्में शामिल है।

इसके मदद से physical world ( भौतिक दुनिया ) से image data received होता है। और कोई graphical software and hardware से image create किया जाता है। ये सब भी data कब प्रकार मेब पूरे तरह से शामिल होता है।

Video Data

दोस्तों अगर हम Data के दूसरे प्रकार के बारे में बात करें तो डाटा का दूसरे प्रकार Video Data होता है हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि इसमें आप जितने भी moving picture, video देखते हैं वह सब इसमे शामिल होता है।

वास्तविक में बहुत सारे images के sequence को Visual multimedia source से जोड़के Moving Pictures बनाया जाता है। ये सब भी data कब प्रकार मेब पूरे तरह से शामिल होता है।

How To Book Cheap Flight Ticket in Hindi

डाटाबेस क्या है ( What is Database in Hindi?)

Choosing the Right Database for Your Applications | PingCAP

दोस्तों हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि डाटा क्या होता है और डाटा के कितने प्रकार होते हैं और कौन-कौन से प्रकार होते हैं यह सब जानने के बाद आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर डेटाबेस क्या होता है।

हम आपके जानकारी के लिए बता दें कि डाटा के बारे में जानने से पहले डेटाबेस के बारे में जानना बहुत ही जरूरी है क्योंकि डाटा में डेटाबेस की महत्वपूर्ण भूमिकाएं हैं जिनके बारे में हमें जान लेनी चाहिए तो हम इस टॉपिक में जानने वाले हैं कि database क्या है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को

हम अब data के बारे में कुछ ज्यादा बोल नहीं सकते बिना database ( डेटाबेस ) का नाम लिए। हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि एक database (डेटाबेस) एक organized collection of data यानी कि ( डेटा का संगठित संग्रह ) होता है।

Data को ऐसे ही किसी लिस्ट बना कर के random order में न डालकर उसके बजाये एक database के मदद से उन्हें एक बेहतर तरह का structure प्रदान किया जाता है, उन data को अच्छे ढंग से organize करने के लिए।

यह एक बहुत ही सामान्य data structures होता है जिसे हम आम शब्द में database table भी कहते है ।

अगर हम इस table के बारे में बात करे तो इस में मुख्य रूप से columns और rows होते हैं। प्रत्येक तरह के row को typically एक record भी कहा जाता है, वहीँ दूसरे तरफ  प्रत्येक तरह के  column को typically एक field भी कहा जाता है।

Wordpad क्या है? | WordPad को कैसे यूज़ करे?

Database के फायदे (Advantages of database in Hindi)

  • Database के आने से किसी भी जानकारी को  अच्छे से और सुरक्षित से Store करके रखा जा सकता है
  • Database के जरिए बहुत कम Space में  बहुत अधिक जानकारियों को रखा जा सकता है
  • Database की मदद से उसमें Store सारी जानकारियों को बहुत आसानी से एक्सेस किया जा सकता है
  • Database की मदद से  कोई नया डेटा को Add करना और पुराने डाटा को एडिट करने का option भी हमें database में मिल जाता है
  • database की मदद से data को filter किया जा सकता है
  • Database की मदद से data को  बहुत सारे अलग-अलग प्रकार के Sort में बांटा जा सकता है
  • एक ही database में कई सारी application या फिर  uses एक साथ access कर सकते हैं
  • Database की मदद से जानकारियों को सुरक्षित रखा जाता है
  • Database की मदद से डाटा और प्रोग्राम को अलग-अलग रखा जा सकता है
  • Database की मदद से data का बैकअप लिया जा सकता है और उस डाटा का बाद में फिर इस्तेमाल किया जा सकता है

Database कहां उपयोग किया जाता है?

दोस्तों वैसे database internet  का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. अब इसके कई प्रकार के उदाहरण हो सकते हैं.जैसे कि database का उपयोग हम online video Streaming, online Gaming, आधार कार्ड, शेयर मार्केट,  रेलवे रिजर्वेशन सिस्टम, बैंकिंग, फ्लाइट रिजर्वेशन सिस्टम, ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट, सोशल मीडिया, यूनिवर्सिटी, कॉलेज और  लाइब्रेरी मैनेजमेंट सिस्टम, टेलीकम्युनिकेशन, हॉस्पिटल मैनेजमेंट सिस्टम, और उस हर जगह पर कर सकते हैं जो कि हमें  online internet पर उपलब्ध मिलती है. internet में जो भी जानकारी हमें मिलती है वह  सभी जानकारी एक database के माध्यम से ही हमें दिखाई जाती है।

Information क्या है? (what is Information in hindi)

दोस्तों हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि डाटा क्या होता है और डाटा के कितने प्रकार होते हैं और कौन-कौन से प्रकार होते हैं और डेटाबेस क्या होता है यह सब जानने के बाद आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर information क्या होता है। तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक इसके बारे में कुछ चर्चा करते हैं।

हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि Information एक ऐसा प्रकार का डेटा होता है जिसे की पूरी तरह से प्रोसेस किया गया होता है कुछ इस प्रकार से की वो बहुत ही meaningful ( सार्थक ) होता उस ब्यक्ती के लिए जो की इसे अच्छे से रिसीव करते हैं। ये कोई भी चीज़ हो सकता है जिसे की कम्यूनिकेट किया जा सके अच्छी तरह से ।

जहाँ Data raw facts को कहा जाता है वहीँ इसे आमतौर पर  information processed data भी को कहा जाता है। उदहरण के अगर हम समझे तो यह किसी क्लास के students के  roll number, subject marks, age, rank, fee  इत्यादि को भी data कहा जा सकता है।

पर  वहीँ अगर आपको कहा जाये की उन सभी students में से  सबसे अच्छे 5 students के physics के marks को आपके सामने लाया जाये तब आपको सबसे पहले उन सभी students के सभी data को स्टेप by स्टेप categorize करना होगा और फिर उसे प्रोसेस कर के ही आप मांगे गए डाटा को उनके सामने प्रदान कर सकते हैं। यहीं तो data आप रिजल्ट्स के तौर पर पाते हैं उसे आमतौर information कहते हैं।

इन्फॉर्मेशन ( information ) बहुत ही classified data और organized होता है, जिसकी कुछ meaningful values यानी कि सार्थक होती है किसी भी receiver के लिए यह किसी तरह का Information एक प्रकार का प्रोसेस्ड डेटा होता है जिसके ऊपर actions based और  decisions होता है।

इस तरह के डेटा को Decision को meaningful बनाने के लिए, processed data को अच्छे से qualify करने चाहिए जिनके लिए कुछ characteristics, है जो की हमने आपको निचे में बताया है।

Timely − हरेक टाइम पर  Information हमेशा available यानी कि ( मौजूद ) होने चाहिए जब उनकी जरुरत पड़े तब आप काफी आसानी से काम कर सकते है।

Accuracy − Accuracy के लिए Information हमेशा अच्छे तरह से accurate होने चाहिए ताकि जब उनकी जरुरत पड़े तब आप काफी आसानी से काम कर सकते है।

Completeness − Information हमेशा complete ( पूरा ) होने चाहिए ताकि जब उनकी जरुरत पड़े तब आप काफी आसानी से काम कर सकते है।

यदि किसी भी processed data में इस प्रकार कर सभी characteristics मौजूद  होते हैं तब उन्हें ही असल में Information कहा जाता है।

Data कैसे Store किया जाता है?

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना की डाटा क्या है फिर हमने उसके बाद जाना कि डाटा के कितने प्रकार होते है। फिर हमने उसके बाद आपको बताया कि डेटाबेस क्या होता है उसके बाद हमने इंफॉर्मेशन के लिए थोड़ी बहुत जानकारी जानी और यह सब जानने के बाद आपके मन में जरूर आया होगा कि आखिर डाटा को कैसे और स्टोर किया जाता है ।

तो आप हमारे इस टोपीक के साथ बने रहिए हम आपको इस टॉपिक में बताने वाले हैं कि आप किस तरह से Data कैसे Store किया जाता हौ तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए

Data और Information को typically computer में store करने के लिए hard drive या कोई अन्य दूसरा storage device का इस्तमाल किया जाता है। डेटा जो की कंप्यूटर memory/storage में store किया जाता है उसे रखा जाता है उन्हें मुख्य रूप से दो हिस्सों में बाटा जाता है। तो चलिए दोस्तों इसके दोनों प्रकार के बारे में हम थोड़ी बहुत जानकारी को प्राप्त करते हैं

1. Permanent storage ( Hard drive/Hard disk)

2. Temporary storage (RAM – यानी कि Random Access memory)

इन दोनों में आमतौर पर काफी अंतर होता है वो यह की permanent storage डेटा को अच्छे तरह से रिटेन करता है क्या आपको मालूम है कि power failure के case में भी, ये तब तक उसे रिटेन कर सकता है ।

जब तक की आप उसे पूरे तरह से  intentionally delete  यानी कि मिटा न कर दें ताकि वहीँ temporary memory data तुरंत ही lost हो जाते हैं जब power failure होता है और इसे automatically यानी कि खुद से ही manage किया जाता है computer या अन्य डिवाइस के CPU के द्वारा।

दोस्तों आपके जानकारी के लिए हम बता दे कि Temporary memory को ज्यादा तर कंप्यूटर एप्पलीकेशन ही इस्तमाल करते हैं इस तरह के  processes को अपने डिवाइस में run करने के लिए।

जब एक बार अच्छे से यह प्रोसेस पूरा हो जाये, तब तक आप इसका इस्तमाल दुसरे नए processes को  डिवाइस में run कराने के लिए भी किया जाता है। इसका उपयोग मुख्य रूप से अपने डिवाइस में temporary files को store यानी कि जमा करने के लिए भी किया जाता है।

जब हम किसी तरह के bits को एक साथ एक ही में group करते हैं तब उसे computer इंडस्ट्री में एक खास नाम दिया जाता है। ज्यादातर references के तौर से कंप्यूटर नम्बर का bytes का उपयोग से एक measure यानी कि उस माप के तरह करता है  (primary storage) computer’s memory capacity और storage यानी कि  (secondary) capacity को अच्छे से लेकर।

उन सभी चीज को एक जगह पर अच्छे से store किया जाता है। दोस्तों जैसे कि हमने आपको ऊपर के टॉपिक में विस्तार से बताया कि data किसी भी रूप में हो सकता है चाहे वह number, alphabet, special character, इत्यदि हो सकते है।

अगर आपको इन सभी चीजों को स्टोर करना है तो आप काफी आसानी से अपने किसी भी स्टोरीज में डिवाइस के मदद से स्टोर कर सकते हैं इन्हें आप किसी भी रूप में स्टोर कर सकते हैं जैसे कि किसी चीज का Tally chart या किसी भी चीज का पूरा इनफार्मेशन।

ATM Se Paise Kaise Nikale? Step by Step Guide 2022

Data Processing क्या है? (what is data Processing in hindi)

Data processing एक ऐसा प्रोसेस होता है  जिसमें raw data को meaningful information में बदल दिया जाता है एक प्रोसेस के जरिए . और इस डाटा प्रोसेसिंग में Data को manipulate किया जाता है जिससे वो results produce करे और जिससे एक प्रॉब्लम का resolution किया जा सके या कोई मेह्जुदा  प्रॉब्लम का situation improve किया जा सके. और उस situation improve किया जा सके।

यह एक production प्रोसेस के तरह ही ये भी एक cycle का पालन करता है जहाँ पर inputs (raw data) को एक प्रोसेस ( कंप्यूटर सिस्टम,  सॉफ्टवेयर, etc.) में डाला जाता है जिससे output (information and insights) produce हो सके ।

Data Processing क्या है? यह जान लेने के बाद चलिए अब जानते हैं कि Data Processing के Methods क्या है? तो  जानने के लिए पूरा जरूर पढ़ें ।

Data Processing के Methods क्या है?

दोस्तों अगर हम Data Processing के Methods के बारे में जाने तो पुरे विश्व में ये data जितना भी  डेटाबेस  हो काम नहीं आता जब तक की उसे ठीक तरीके से प्रोसेस न किया जाये. Data processing उस प्रोसेस को कहा जाता है जिसमें की कुछ  मेथड का इस्तमाल कर raw data को usable information में तब्दील कर दिया जाता है ।

हाँ इस काम के लिए  पेपर और पेंसिल  का उपयोग किया जा सकता है लेकिन चूँकि हम  21वीं शताब्दी में हैं और यहाँ पर data की कोई कमी नहीं है, मतलब की data की quantity बहुत  अधिक  है और ऐसे में हमें नए innovation  टेक्नोलॉजी  जैसे की कंप्यूटर, या पीसी का इस्तमाल कर सकते हैं ।

कंप्यूटर  का इस्तमाल data को प्रोसेस करने के लिए उन्हें पहले  एक जगह collect किया जाता है, accuracy के लिए  चेक और भी तभी जाकर उन्हें कंप्यूटर में enter किया जाता है. तो यही  Data Processing के Methods होता है? हमें उम्मीद है कि आप आप समझ गए होंगे।

Online Shopping Kaise Kare Mobile Se :

चलिए अब Data Processing के Basic Stages को Details में समझते हैं

Big Data Processing Vector Illustration Concept Stock Illustration -  Download Image Now - iStock

Batch Processing

यह data processing का सबसे simple और आसान form है, यह Batch Processing सबसे ज्यादा उपयोगी तब होता है जब किसी संगठन के ज्यादा मात्रा में data होते हैं और उन्हे एक या दो categories में clump एक जगह में कर दिया जाता है ।

अगर हम कुछ उदाहरण को देखे तो एक  Store में, batch-process के मदद से  ट्रांजैक्शन को एक जगह में categorize किया जा सकता है। या बाट दिया जाता है। अगर कोई information को बदला ना जाए तो Batch Processing बहुत ज्यादा fast होता है।

Real Time Processing

कुछ batch-processing इतने ज्यादा भी fast नहीं होते है, real time processing  मेथड्स डाटा को हैंडल करते है जब इन्हे instant turn-around time की ज़रूरत होती है. मतलब कि अगर डाटा में कोई जल्दी से बदलाव होता है तो इस Real Time Processing के जरिए उसे हैंडल किया जा सकता है।

अगर हम कुछ उदाहरण को देखे तो यदि कोई  व्यक्ति किसी भी चीज की ticket online book  करता है जैसे कि होटल, मूवी, ट्रेन या फ्लाइट और  लेकिन वह व्यक्ति किसी कारण उस टिकट को कैंसिल कर देता है तो उसके  incharge को तुरंत ही अपने system को update किया जाता है.

Data Mining

इस Data Mining Processing मे data pools और multiple source से लिया जाता है और उन्हे combine कर के correlations की तलाश किया जाता है.

अगर हम कुछ उदाहरण को देखे तो एक grocery chain को उपभोक्ता के खरीद को analyse करना होता है और ये खोजना होता है कि उपभोक्ता जो की कोई भी अनाज खरीदते है, अक्सर उसके बाद वो उपभोक्ता क्या खरीदते हैं। इसी Processing को Data Mining कहा जाता है।

Statistical Processing

इस Statistical Processing मे heavy  नंबर  crunching होती है, एक ऐसी company जिनको पता है की वो सप्ताह के एक दिन में थोड़ा ज्यादा काम करते हैं और  ज्यादा व्यस्त रहते है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बहुत से उपभोक्ता आखिरी टाइम में ही अपने request देते है इसलिए ऐसे समस्या अक्सर होते हैं. और काला के पता हो जाने से एक कंपनी उस समस्या को अच्छे से  निपट सकती है। इसीलिए इस Processing को Statistical Processing कहा जाता है

(निष्कर्ष, Conclusion)

दोस्तो आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से डेटा क्या होता है? और इसके प्रकार कितने होते हैं (What is data in Hindi) बारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से प्राप्त कर चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे।

हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम था कई सारे लोग ऐसे हैं जो डाटा के नाम तो सुन चुके हैं मगर उनको डाटा के बारे में तनिक भी ज्ञान नहीं है ।

और जो लोग थोड़ा बहुत डाटा के बारे में जानते भी हैं तो उनके मन में यह जिज्ञासा रहती है कि क्यों ना हम डाटा के बारे में और भी जाने आखिर डाटा है क्या डाटा कितने प्रकार के होते हैं और इससे जुड़ी कई तरह के जानकारी उन्हें नहीं मालूम होते हैं इसलिए हमने उन सभी लोगों की मदद करने के लिए इस लेख को लिखा है।

आप सभी से उम्मीद करता हूं कि आप मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़ चुके होंगे और डेटा से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त कर चुके होंगे। अगर दोस्तों आपको इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह की,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं।

हमारी समूह आपकी मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि यह पोस्ट डेटा क्या होता है? और इसके प्रकार कितने होते हैं (What is data in Hindi) के बारे में जानकारी आपको कैसा लगा ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे।

तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमरा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………

Leave a Comment