Prithvi se chand ki duri kitni hai | पृथ्वी से चाँद की दूरी कितनी है (2022)

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप लोग आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे आपका हार्दिक स्वागत है हमारे इस लेख में आज के इस लेख के मदद से हम जानने वाले हैं। कि Prithvi se chand ki duri kitni hai | पृथ्वी से चाँद की दूरी कितनी है दोस्तों आप ने चांद को तो रात में अवश्य देखा होगा और उसके सुहाने लम्हों को काफी महसूस भी किया होगा। वाकई में चांद काफी खूबसूरत होता है और इसका मजा तो तब आता है।

 जब रात के लम्हे में इसे देखा जाए कई सारे ऐसे विधि विधान है जिसमें चांद को देखना काफी शुभ माना गया है। जिस प्रकार से पृथ्वी सूर्य के चक्कर लगाती है ठीक उसी प्रकार से चांद भी पृथ्वी की चक्कर लगाता है। क्योंकि चांद पृथ्वी का उपग्रह है हालांकि सूर्य का उपग्रह पृथ्वी नहीं है मगर चांद पृथ्वी का उपग्रह है। 

फिर दोस्तों आप लोगों ने जब चांद को देखा होगा तो आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि आखिर चांद हमारे पृथ्वी से कितनी दूरी पर है। और सूर्य हमारी पृथ्वी से कितनी दूरी पर है उन्हीं सभी सवालों को जवाब देने के लिए हमने इस लेख को लिखा है और इस लेख में इन्हीं सभी सवाल का जवाब स्टेप बाई स्टेप करके लिखा है। 

अगर आप सच में जानना चाहते हैं कि पृथ्वी से चांद की दूरी कितनी है तो आप से मेरा यह नम्र निवेदन है। कि आप मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़े कभी आपको मेरा यह लेख आज उसे समझ में आएगा तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए।

Tense kitna prakar ke hote hain in hindi (2022)

पृथ्वी से चाँद की दूरी कितनी है ?

Where Did the Moon Come From? | Britannica

दोस्तों अगर हम पृथ्वी से चाँद की दूरी के बारे में बात करे तो कुछ वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं के द्वारा प्राप्त की गए कुछ आंकड़ों के अनुसार पृथ्वी और चाँद के बीच औसत दूरी तकरीबन 384,403 किलोमीटर है, अर्थात 238,857 मील की आंकीक दूरियां इन दोनों के बीच है।

दोस्तों हमने यहाँ पर पृथ्वी और चाँद के बीच की दूरी को आंकड़ों के हिसाब में जानकारी दी है,  क्योंकि आप को मालूम होगा कि इस संबंध में पूर्ण रूप से कितनी दूरी है उस आंकड़ों का पता लगाना लगभग नामुमकिन है। आप ने चाँद बारे में पढ़ा होगा तो आप को मालूम होगा कि चाँद गतिमान है, 

जिस की कारण से इस की दूरी पृथ्वी से कभी कभी कम तो कभी कभी ज्यदा होती रहती है।  आमतौर पर 384,403 किलोमीटर अर्थात 238,857 मील जैसी आंकड़ो की औसत दूरी को वैज्ञानिकों द्वारा अर्धांश (सेमि-मेजर Axis) के नाम से चिह्नित किया गया है। 

238,857 मील यानी कि 384,403 किलोमीटर की गणना करने के लिए वैज्ञानिकों और कुछ विसेसगयो द्वारा चन्द्रमा के परिक्रमण काल में पृथ्वी से उस की  अधिकतम और निकटतम दूरी के बिलकुल बीच के औसत आंकड़ों की गणना की गई है और उसी को बताया गया है।

क्या आपको मालूम है कि यह चन्द्रमा से पृथ्वी की न्यूनतम दूरी यानी कि (भू-समीपक बिंदु) है, जो कि  225,622 मील अर्थात 363,104 कलोमीटर है, और वही चन्द्रमा से पृथ्वी की अधिकतम दूरी जो कि  252,088 मिल अर्थात 406,696 किलोमीटर  (पराकाष्ठा बिंदु) के बीच का औसत है।

हम आप के जानकारी के लिए बता दे कि जब चन्द्रमा, पृथ्वी के सब से करीबी अक्ष पर होता है, तब इस की चमक, पराकाष्ठा बिंदु  की अपेक्षा लगभग 30 % अधिक होती है और इस की दूरी भी कम होती है।

दोस्तों क्या आप को मालूम है कि पृथ्वी और चन्द्रमा की दूरी में थोड़े से बदलाओ से भी पृथ्वी से चन्द्रमा की स्थिति और चमक और दूरी जैसे चीज़ों में अत्यधिक परिवर्तन आ जाता है। आपको मालूम होगा कि पृथ्वी, हमारे सौरमंडल के 9 ग्रहों में से एक ग्रह है और उसी तरफ चाँद, पृथ्वी का एक उपग्रह है।

दोस्तों जिस प्रकार से पृथ्वी, सूरज के चारों ओर परिक्रमा करती है और चक्कर लगाती है, ठीक उसी प्रकार चाँद भी पृथ्वी ग्रह के चारों ओर निरंतर वेग से परिक्रमा करता है और चक्कर लगाता है।

Play Store Ki ID Kaise Banaye? Step by Step Guide 2022

पहली बार चाँद और पृथ्वी के बीच की दूरी कैसे मापी गई थी?

Earth and Moon Wallpapers - Top Free Earth and Moon Backgrounds -  WallpaperAccess

दोस्तों अगर आप सोच रहे है कि आखिर पहली बार चाँद और पृथ्वी के बीच की दूरी कैसे मापी गई थी तो आप हमारे इस लेख के साथ बने रहे क्योंकि इस लेख में हम इसी पर विचार विमर्श करने वाले है तो चलिए शुरू करते है इस टॉपिक को।

दोस्तों पहली बार शाल 1958 में इंग्लैंड के रोयल रडार इस्टैब्लिशमेंट नामक किसी अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिकों और वहाँ के विसेसगयो द्वारा रडार सिग्नल का इस्तेमाल कर के चंद्रमा से पृथ्वी की बीच की दूरी मापी गई थी।

जिसे आप सभी जानते होंगे कि आजकल के वैज्ञानिक और विसेसगय कई सारे तरह तरह के आधुनिक तरीकों, जैसे – स्पेसक्राफ्ट, लेज़र, या कंप्यूटर मॉडलिंग का इस्तेमाल कर के किसी भी खगोलीय पिंड यानी कि सौर्यमंडल में मौजूद दूसरी ग्रहों की दूरी जान लेते हैं। लेकिन वर्ष 1950 से पहले तक ऐसा बिल्कुल संभव नहीं था।

रडार सिग्नल के प्रयोग में तीव्र क्षमता वाले रेडियो सिग्नलस जैसे उपकरणों को रडार के माध्यम से चाँद की ओर प्रेषित किया गया और जब वे रेडियो सिग्नलस चाँद की अन्दुरुनी सतह से टकरा कर के वापस पृथ्वी ग्रह पर आये तो उन्हें वापिस से यहाँ मौजूद रडार के रिसीवर द्वारा ग्रहण कर लिया गया था।

अंत में सिग्नलस के चंद्र सतह पर पहुंचने तथा फिर टकराकर पुनः आने में लगने वाले समय का हिसाब लगा कर के चाँद और पृथ्वी के बीच की दूरी की गणना कर ली गई और उसी को माना जाता है। उस वक्त वह ज्ञात की गई दूरी तकरीबन 384402 ±1.2 कि.मी. थी। यह उस समय चंद्र दूरी का सब से सटीक माप था जो कि वाकई में सही था।

Facebook से पैसे कैसे कमाए | फेसबुक पर पैसे कमाने के 15 तरीके

पृथ्वी से चाँद तक पहुंचने में कितना समय लगता है ?

Earth's Second Moon You Probably Don't Know That It Exists - Somag News

दोस्तों अगर आप सोच रहे है कि आखिर पृथ्वी से चाँद तक पहुंचने में कितना समय लगता है तो आप हमारे इस लेख के साथ बने रहे क्योंकि इस लेख में हम इसी पर विचार विमर्श करने वाले है तो चलिए शुरू करते है इस टॉपिक को,

दोस्तों अगर हम पृथ्वी से चाँद तक पहुंचने में कितना समय लगता है के बारे में बात करे तो  यह सवाल पूरे  तरह से इस बात निर्भर करती है कि हम जिस विमान से यात्रा कर रहे हैं उस की गति क्या है।

क्या आप को मालूम है कि चन्द्रमा पर पृथ्वी से भेजे गए विमानों में सबसे कम गति वाला विमान ESA Smart-1, चाँद पर 1 वर्ष, 1 महीने और तकरीबन 2 हप्ता के बाद सही से पहुँचा था।

दोस्तों अब तक के सब से तेज गति वाले रॉकेट या कहे तो विमान NASA New Horizon ने करीब 8 घंटे और 35 मिनट में पृथ्वी से चाँद के बीच की दूरी को काफी आसानी से तय कर ली थी। यह पृथ्वी से चाँद के बीच की सफर को तय करने में लगा अब तक का सब से कम समय है।

iPhone असली है या नकली कैसे पता करे | How to Know Your iPhone is Real or Fake Hindi

पृथ्वी की तुलना में चाँद कितना बड़ा है?

दोस्तों अगर आप सोच रहे है कि आखिर पृथ्वी की तुलना में चाँद कितना बड़ा है तो आप हमारे इस लेख के साथ बने रहे क्योंकि इस लेख में हम इसी पर विचार विमर्श करने वाले है तो चलिए शुरू करते है इस टॉपिक को,

दोस्तों आमतौर पर चाँद हमारे पृथ्वी से काफी छोटा है और यह पृथ्वी का उपग्रह है। हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि चाँद का व्यास लगभग 3,474 किलोमीटर है, वही पृथ्वी का व्यास लगभग 12,742 किलोमीटर है। 

इस का मतलब है कि चंद्रमा का व्यास पृथ्वी के व्यास का लगभग 27% के  आस पास ही है। चाँद के सतह का क्षेत्रफल लगभग 3.8 करोड़ वर्ग किलोमीटर है। आप को सुनने में यह क्षेत्रफल बहुत बड़ा लग रहा होगा मगर हम आपको बता दे कि वास्तव में यह एशिया महाद्वीप के भूमि का क्षेत्रफल से भी छोटा है। 

क्योंकि एशिया का कुल क्षेत्रफल तकरीबन 4.45 करोड़ वर्ग कि.मी. है और उसी तरफ पृथ्वी के सतह का कुल क्षेत्रफल तकरीबन 51.01 करोड़ वर्ग किलोमीटर है, जो कि चाँद के संपूर्ण क्षेत्रफल से  तकरीबन 73% अधिक है। यह बड़ा इस लिए दिखाई देता है क्योंकि यह हमारे करीब है।

Download और Upload क्या है | Download और Upload में क्या अंतर है?

चाँद की सतह पर उतरने वाले पहले अंतरिक्ष-यान का क्या नाम था?

दोस्तों अगर आप सोच रहे है कि आखिर चाँद की सतह पर उतरने वाले पहले अंतरिक्ष-यान का क्या नाम था तो आप हमारे इस लेख के साथ बने रहे,

 क्योंकि इस लेख में हम इसी पर विचार विमर्श करने वाले है तो चलिए शुरू करते है इस टॉपिक को, हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि चाँद की सतह पर पहली बार ‘लूना 2’ नामक अंतरिक्ष-यान उतरा गया था।

पृथ्वी से सूर्य की दूरी कितनी है?

How Far Is the Earth from the Sun? - WorldAtlas

पृथ्वी और सूर्य के बीच की फासला या औसत दूरी  लगभग 14 करोड़ 95 लाख  kilometer है। सूर्य और पृथ्वी के बीच की इस दूरी को खगोलीय इकाई कहते है। दोस्तों हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि यह इतनी ज्यादा दूरी है कि यदि हम पृथ्वी से सूर्य पर कोई rocket experiment के लिए भेजते है तो उसे कई वर्ष लग जाएंगे, और rocket सूर्य के पास पहुंचते ही इसकी गर्मी से जल  कर कब भस्म हो जायेगा।

उसी तरफ  सूर्य के सब से पास बुध ग्रह है जिसकी न्यूनतम यानी कम से कम दूरी 4.7 लगभग kilometer है। पृथ्वी इस लाइन में तीसरे नम्बर पर आता है। हम आपको बता दे, पृथ्वी सूर्य के चारों ओर जिस दीर्घवृत्तीय कक्षा में  निरन्तर घूमती है वह पूरी तरह गोल नहीं है, इस लिए पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी हमेशा एक जैसी नहीं रहती और fluctuate होते रहती है।

पृथ्वी सूर्य का एक चक्कर लगाने में तकरीबन एक साल का समय लगाती है। तो दोस्तों इसी दौरान पृथ्वी कभी सूर्य के पास तो कभी सूर्य से बहुत दूर होती है। वर्ष में जनवरी माह में पृथ्वी सूर्य के सब से पास होती है  यानी कि निकट होती है। उस समय सूर्य से लगभग 14.71 करोड़ kilometre दूर होती है; 

दोस्तों उसी तरफ जुलाई के माह में यह सूर्य से सब से दूर की स्थिति में होती है। उस वक्त सूर्य से इसकी दूरी तकरीबन 15.21 करोड़ kilometre होती है।

हम आपके जानकारी के लिए  बता दे, सूर्य पृथ्वी से 109 गुना बड़ा है। इसमें पृथ्वी जैसे कई ग्रह समा सकते है। इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि सूर्य कितना बड़ा और विशाल है ठीक उसी प्रकार से वह जितना विशालकाय हैं। 

उतने दूरी पर भी है अगर पृथ्वी सूर्य के पास होता तो इस पर शायद ही जीवन मुमकिन हो पाता क्योंकि ज्यादा गर्मी के कारण इस पर के जीव जंतु मर जाते हैं और इस पर मानव जीवन की शुरुआत नहीं हो पाती।

पानी की बचत व जल संरक्षण कैसे करे Save Water in Hindi

[Conclusion, निष्कर्ष]

दोस्तो आशा करता हूं कि आप को मेरा यह लेख बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से इसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर चुके होंगे क्योंकि हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आप को Prithvi se chand ki duri kitni hai | पृथ्वी से चाँद की दूरी कितनी है के बारे में बताने की कोशिश की है।

क्योंकि हमें मालूम है कि कई सारे लोग ऐसे हैं जो जानना चाहते हैं कि आखिर पृथ्वी से चांद की दूरी कितनी है और सूर्य से पृथ्वी की दूरी कितनी है इन्हीं सभी सवालों का जवाब देने के लिए हमने इस लेख को लिखा है। 

और मैं यह बात दावे के साथ कह सकता हूं कि आप हमारे इस लेख को पढ़ करके संतुष्ट होंगे और आप जिस जानकारी के लिए आए थे वह जानकारी आपको मिल चुका होगा अगर इस लेख में हमसे कोई भूल हुई होगी या आपको कोई चीज गलत लगी हो तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में जरूर मैसेज कर के पूछे।

Mobile और Computer से Photo Edit कैसे करे | फोटो एडिट करने का तरीका

Leave a Comment