Sensex क्या होता है और Sensex कैसे बनता है ?

नमस्कार दोस्तों आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे स्वागत है आपको हमारा इस लेख में आज के इस लेख की मदद से हम Sensex क्या होता है और Sensex कैसे बनता है के बारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से प्राप्त करने वाले हैं और इसके बारे में हम जानने भी वाले हैं।

दोस्तों अगर आप share market में अपना पैसा इन्वेस्ट करते होंगे या stock market से जुड़ी जानकारी को प्राप्त कर रहे होंगे तो आपको उसमें Sensex का नाम सुनने का जरूर मिला होगा।

या फिर अगर आप न्यूज़ या अखबारों में पढ़ रहे होंगे तो आपको यह देखने को उसमें जरूर मिलेगा कि इस दिन में Sensex इतना ऊपर गया इस दिन में Sensex इतना नीचे हो गया कंपनी में इतना गिरावट हुई इस सब के बारे में आपने जरूर देखा होगा या कहीं पर किसी के मुंह से जरूर सुना होगा।

तो यह सब सुनने और जानने के बाद आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिरी Sensex होता क्या है और सीन Sensex तरह कैसे बनता है और Sensex में किस तरह से निवेश किया जाता है और Sensex के फायदे क्या क्या है और Sensex किस तरह से बढ़ता है ।

अगर आप इसके बारे में सच में सोच रहे हैं तो आप बिल्कुल भी ना घबराए क्योंकि हम इस लेख में इसी के बारे में विचार विमर्श करने वाले हैं और इस लेख में हम सब ने Sensex से जुड़ी सभी जानकारी को स्टेप बाई स्टेप लिखा है। और आपको अपनी ओर से पूरी कोशिश करके Sensex से जुड़ी सभी जानकारी को समझाने की कोशिश की है।

अगर आप चाहते हैं कि आपको Sensex से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त हो तो आप कृपया करके हमारे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पड़े तोभी आप को Sensex के बारे में सब जानकारी प्राप्त कर पाएंगे और हमारा यह लेख आपको अच्छे से समझ में आएगा तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए

Yahoo क्या है और Yahoo कैसे काम करता है?

Sensex क्या होता है ?

Sensex gains 986 points as RBI unveils steps to fight Covid-19 crisis,  financials rally - BusinessToday

दोस्तों अगर आप यह सोच रहे हैं कि आखिर Sensex क्या होता है तो मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि आप हमारे इस टॉपिक के साथ अंत  तक बने रहिए क्योंकि हम इस टॉपिक में बात करेंगे कि आखिर Sensex होता क्या है तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए दोस्तों आपने अक्सर news पर या फिर अखबारों या फिर टीवी में जरूर Sensex शब्द को पढ़ा या देखा या फिर सुना होगा।

कभी आप देखते है Sensex आज इतने अंक नीचे गिरा और कभी आप देखते है की Sensex आज इतने अंक ऊपर चला गया तो  ।

जब भी आप Share Market में invest करने के बारे में सोचते या उसमे करते हैं तब आपके मन में Sensex के बारे में ख्याल जरुर आया होगा। पर आप इन Sensex के शब्दों का अर्थ बिलकुल भी नहीं समझ पाते क्योंकि आप नहीं जानते की Sensex क्या होता है।

हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि Sensex शब्द की शुरुआत या कह सकते है कि निर्माण दीपक मोहोनि के द्वारा की गयी थी। यह शब्द  index और sensitive और लगभग शब्दों से मिल कर ही बना हुआ है। इसका साफ साफ मतलब हम देखे तो यह  है की यह संवेदी सूचकांक होता है।

क्या आपको पता है कि Sensex हमारे भारतीय स्टॉक बाजार का BenchMark index है, जो की BSE यानी कि ( Bombay Stock Exchange ) में सूचिबद्ध shares के भाव में होने वाली तेजी और मंदी को बेहतर तरह से बताता है।

इसी के जरिये हम इसमें लगभग सभी तरह के सूचीबध्द 30 सबसे बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन की जानकारी भी अच्छे तरह से हासिल करते है। Sensex की बात की जाए तो यह india का सबसे पुराना stock market index है, जिसकी शुरुआत शाल 1986 में ही हुई थी।

Sensex जो की एक stock market index है और इसका सबसे महत्वपूर्ण काम है कि यह stock market में सूचिबद्ध company के सभी shares के भाव को देखता रहे और फिर दिन भर के काम के बाद हमको एक average value दे जिस से कि हमे स्टॉक मार्केट में Limited companies के shares के भावो में होने वाली तेजी और मंदी की सूचना काफी आसानि और तेजी के साथ मिल सके।

हम आपके जानकारी कब लिए बता दे कि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी कि (BSE) जो की भारत का सबसे पुराना dog exchange है और इसके अंतर्गत कुल लगभग 30 प्रमुख भारतीय  company आती हैं। दोस्तों अगर हम ये कंपनियां का market capitalisation के हिसाब से देखा जाए तो यह बहुत बड़ी होती है यह अभी के समय में भारतीय GDP का कुल लगभग  37 से 38% है।

यह कंपनियां एक प्रकार से Indian market के trend को सेट करने का काम करती हैं। और आसान शब्दों में कहें तो भारत की बड़ी company के share की कीमतों को आंकने के लिए बनाये गए सूचकांक जो इन कंपनियों के शेयरों की बढ़ती घटती कीमतों पर नजर रखता है वही Sensex कहलाता है। दोस्तों तो जैसा कि हमने इस टॉपिक में जाना की आखिरी Sensex होता क्या है तो चलिए अब अगले टॉपिक को देखते हैं और Sensex से जुड़ी कुछ जानकारियों को प्राप्त करते हैं।

Computer में Android app कैसे चलाये और install करें

Sensex कैसे बनता है?

Sensex Drops Over 1,400 Pts; Nifty Plunge 2% Amid Omicron Scare; What  Investors Should Do

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि आखिर Sensex होता क्या है तो उसको जानने के बाद आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर Sensex किस तरह से बनाया जाता है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब हम इस टॉपिक में इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ बने रहिए तो चलिए शुरू करते हैं टॉपिक को ।

दोस्तों अगर आप share market या market market के बारे में थोड़ा बहुत भी जानते होंगे तो आपको मालूम ही होगा की Sensex (Bombay Stock Exchange) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का ही एक हिस्सा है और Sensex Bombay Stock Exchange पर listed केवल तीस कंपनियों के shares के भावो से मिलकर पूर्ण रूप से बन हुआ होता है जबकि Bombay Stock Exchange में listed कुल कंपनियों का आंकड़ा लगभग 6000 से भी अद्धिक है।

हम आपके बेहतर जानकारी के लिए बता दे कि जब Sensex की गणना की जाती है तो उसमें केवल 30 company जो की मार्किट में प्रमुख तरह से कम कर रही है उनके ही shares को शामिल किया जाता है। इन 30 company के share के भावो को शामिल करने के पीछे का कारण यह है कि एक तो इन 30 कंपनियों के shares सबसे ज्यादा ख़रीदे के साथ साथ बेचे भी जाते है।

दूसरा बात यह की यह 30 सबसे बड़ी company होती है इनका market cap Stock Exchange में सूचिबद्ध सभी shares का लगभग आधा यानी कि 50% होता है जो की एक बहुत बड़ी उपलब्धि भी होती है। और दोस्तों इसका तीसरा कारण यह भी है की ये 30 बड़ी कम्पनीयाँ 13 अलग अलग sector से चुनी जाती है ये 30 company अपने sector यानी कि अपनी फील्ड में सबसे बड़ी मानी जाती है।

इन 30 company का चुनाव Stock Exchange की index committee के द्वारा ही किया जाता है इस तरह के committee में कई वर्गों से लोग शामिल होते है जिनमे प्रमुख रूप से सरकार, बैंक और जाने माने अर्थशास्त्री भी शामिल हो सकते है। तो चलिए अब अगले टॉपिक को देखते हैं और Sensex से जुड़ी कुछ जानकारियों को प्राप्त करते हैं।

Data क्या होता है और इसके कितने Types होते हैं ? | What is data in Hindi

Sensex कैसे घटता या बढ़ता है?

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि आखिर Sensex होता क्या है और यह भी जाना कि Sensex किस तरह से बनाया जाता है तो उसको जानने के बाद आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर Sensex कैसे घटता या बढ़ता है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब हम इस टॉपिक में इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ बने रहिए तो चलिए शुरू करते हैं टॉपिक को ।

Sensex इसका काम ही हमें share की जानकारी को बेहतर तरह से प्रदान करने का होता है। यह अपने अंतर्गत आने वाली लगभग सभी 30 कंपनियों के shares में आए उतार-चढ़ाव पर ध्यान से नजर बरकरार है। अगर Sensex में listed company के बाजार में शेयरों के मूल्य बढ़ रहे हैं तो Sensex भी उसके हिसब से बढ़ जाता है और पहले के अपेक्षा ऊपर चला जाता है।

वहीं अगर Sensex में listed company की बाजार में share के value गिर रहे होते है तो Sensex भी पहले के अपेक्षा नीचे गिरने लगता है। shares की कीमतों के नीचे जाने और ऊपर जाने और घटने और बढ़ने का सबसे महत्वपूर्ण कारण यह ही होता है की उन company का कंपनी का प्रदर्शन के उदहारण  के तौर पर आपको समझने के लिए अगर कंपनी ने बाजार में कोई नया और बड़ा project launch किया है तो संभावना है की company के shares के दाम जरूर बढ़ेंगे।

दोस्तों कुछ इसी प्रकार से company अगर किसी मुश्किल से गुजर रही होती है और company का नाम खराब हो गया है तो लोग इसको छोड़ना चाहते है और shares ज्यादा मात्रा में बेचे जाने लगते है। shares की ज्यादा मात्रा होने से share के दाम उसके अव्सत दाम से घट जाते हैं और उसके हिसब से sinsex नीचे की और जाने लगता है। तो चलिए अब अगले टॉपिक को देखते हैं और Sensex से जुड़ी कुछ जानकारियों को प्राप्त करते हैं।

शेयर बाजार क्या है?What is share market in Hindi

किस आधार पर 30 company का चुनाव किया जाता है?

Sensex 30 Companies Weightage in Index [2021] - GETMONEYRICH

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि आखिर Sensex होता क्या है और यह भी जाना कि Sensex किस तरह से बनाया जाता है और यह भी जाना कि Sensex कैसे घटता या बढ़ता है तो उसको जानने के बाद आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर किस आधार पर 30 company का चुनाव किया जाता है ।

तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब हम इस टॉपिक में इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ बने रहिए तो चलिए शुरू करते हैं टॉपिक को Intex commity Sensex में शामिल करने के लिए 30 company के चुनाव के वक़्त जो बातो का ध्यान रखती है, वो इस प्रकार होती है हमने आपके लिए निचे में नंबर वाइज कर के बताया है तो आप ध्यान से पढ़े और समझे :-

  • जिस company का लोग चुनाव करने वाले है उस company के share कम से कम 1 शाल या उस से अधिक समय से स्टॉक एक्सचेंज पर अच्छे तरह से सूचिबद्ध हो।
  • और उस कंपनी के पिछले एक साल के अंदर जितने दिन भी share market खुला होता है, उन सभी दिनो में उस company के Stoke का ख़रीदा और बेचा जाना पूरे तरह से अनिवार्य होता है।
  • हर दिन की average trade की संख्या और उसके value के हिसाब से इस तरह के company देश की सबसे बड़ी 150 company में अवश्य होनी चाहिए।

दोस्तों क्या आपको पता है कि यही कुछ बातें है जो listing के लिए index committee के द्वारा ध्यान में रखी जाती है। तो चलिए अब अगले टॉपिक को देखते हैं और Sensex से जुड़ी कुछ जानकारियों को प्राप्त करते हैं।

बेहतर प्रदर्शन करने वाले सबसे बेस्ट 30 Companies कोन से हैं

दोस्तों जब मैं आपको Sensex से जुड़ी जानकारी को बता ही रहा था और उसमें कुछ बेहतरीन कंपनियों के बारे में भी हमने जिक्र किया तो हमने सोचा क्यों ना आपको बेहतर प्रदर्शन करने वाले सबसे बेस्ट 30 Companies कोन से हैं के बारे में भी जानकारी दिया जाए तो हम इस टॉपिक में इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस टॉपिक को ।

Sensex में शामिल लगभग 30 company को शाल 1986 में पहली बार पूर्ण रुप से शामिल किया गया था ये सभी company वित्तीय रूप से काफी ताक़तवर और market capture के हिसाब से भी बहुत बड़ी हो चुकी है। इस तरह के सभी company के share की मांग स्टॉक मार्केट में हमेशा बेहतरिन रूप से बनी रहती है। हम आपके जानकारी के लिए बता दे कि ऐसी सभी कंपनियों को “ blue cheap” company कहा जाता है।

BSE यानी की Bombay Stock Exchange के Sensex में अभी कुल लगभग 31 company शामिल है BSE Sensex में listed company की लिस्ट कुछ इस प्रकार है हमने आपको नीचे में बताया है ।

नम्बर 1.  Adani Ports and Special Economic Zone Ltd

नम्बर 2. Asian Paints

नम्बर 3. Axis Bank Ltd

नम्बर 4. Bajaj Auto Ltd

नम्बर 5. Bharti Airtel Ltd

नम्बर 6. Cipla

नम्बर 7. Coal India Ltd

नम्बर 8. Dr. Reddys Laboratories Ltd

नम्बर 9. HDFC Bank Ltd

नम्बर 10. Hero MotoCorp Ltd

नम्बर 11. Hindustan Unilever Ltd

नम्बर 12. Housing Development Finance Corporation Ltd

नम्बर 13. ICICI Bank Ltd

नम्बर 14. ITC

नम्बर 15. Infosys Ltd

नम्बर 16. Kotak Mahindra Bank Ltd

नम्बर 17. Larsen & Toubro Ltd

नम्बर 18. लुपिन ( Lupin )

नम्बर 19. Mahindra & Mahindra Ltd

नम्बर 20. Maruti Suzuki India Ltd

नम्बर 21. NTPC Ltd

नम्बर 22. Oil & Natural Gas Corporation Ltd

नम्बर 23. Power Grid Corporation Of India Ltd

नम्बर 24. Reliance Industries Ltd

नम्बर 25. State Bank Of India

नम्बर 26. Sun Pharmaceutical Industries Ltd

नम्बर 27. Tata Consultancy Services Ltd

नम्बर 28. Tata Motors

नम्बर 29. Tata Motors – DVR Ordinary

नम्बर 30. Tata Steel Ltd.

नम्बर 31.  Wipro Ltd.

इस वक़्त Indian market में इन companies का एक तरीके से कहें तो राज चलता है। ये सारी कंपनियां अपने अपने sector यानी कि उस फील्ड  में जितने भी प्रमुख company है और हर company अपने sector का एक तरीके से Sensex में प्रतिनिधित्व करती है। तो चलिए अब अगले टॉपिक को देखते हैं और Sensex से जुड़ी कुछ जानकारियों को प्राप्त करते हैं।

KYC क्या होता है ? –  और KYC कैसे कराया जाता है।

Sensex के फायदे

Why is Sensex rising: Sensex jumps 500 points: Key factors behind stock  market rally - The Economic Times

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि आखिर Sensex होता क्या है और यह भी जाना कि Sensex किस तरह से बनाया जाता है और यह भी जाना कि Sensex कैसे घटता या बढ़ता है तो उसको जानने के बाद आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि आखिर Sensex के फायदे क्या क्या है तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब हम इस टॉपिक में इसी पर विचार विमर्श करने वाले हैं तो आप हमारे इस टॉपिक के साथ बने रहिए तो चलिए शुरू करते हैं टॉपिक को ।

वेसे अगर हम बात करे Sensex के बड़े फायदे के तो Sensex का सबसे बड़ा फायदा यही होता है की इसके जरिये निवेशक के बाजार में होने वाले भविष्य के किसी तरह के परिवर्तनो को जान सके और उसे अच्छे से समझ सके और उनके हिसाब से अपना कमाया हुवा पैसा ठीक ठाक तरीके से अच्छे जगह पर invest कर सके।

पर Sensex से हमें कुछ ऐसे भी अच्छे तरह के लाभ होते है जो की वेसे तो सीधे तौर पर ज्यादा कोई असर या फायदा नहीं करते पर indirect रूप से काफी उपयोगी होते है। रूपए की चाल पर किसी भी बाजार के अनुरूप बदलती रहती है और जब रूपया पूरे तरह से अच्छे जगह पर मजबूत होता है तो हमारे या किसी भी देश में चीज़ें आमतौर पर सस्ती होती है। तो  हमने Sensex के कुछ फायदे के बारे में तो आइये कुछ अलग तरह के Sensex के फायदों के बारे में जानते है।

1) दोस्तों क्या आपको मालूम है कि जब कंपनियां Sensex को ऊपर जाते देखती हैं तो investar भी ऐसी company में अपना पैसा लगाने की एक चाह रखते है और जब investar से बहुत ज्यादा पैसा उनके पास इकट्ठा हो जाता है तो company में बहुत ज्यादा बढ़ती है उस company ग्रोथ करती है और वो पहले के अपेक्षा अपने आप को उस फील्ड में फैलाती होती है।

और जब भी कोई company अच्छी तरह से expand होती है तो उसके लिए उसको नए लोगों की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है तो ऐसे में वे अधिक से अधिक लोगों को नौकरी देती है और इसका सीधा मतलब है कि बेरोजगारी की हमारे देश मे कमी होगा।

2) जब share market अच्छा होता है और Sensex ऊपर जाता है तो किसी भी देश में बहुत से बाहरी investar आने लगते है और जब वो भारतीय companies में अपना पैसा लगाते है तो इससे रुपये में बहुत ज्यादा तेजी भी आएगी।

और रुपया विदेशी मुद्रा के मुक़ाबले भी में हमारा मजबूत होता है। और जब रुपया मजबूत होता है तो इससे हमारे बाजार में चीज़ें  भी काफी सस्ती होने लगती है। जैसे कि विदेश से आयत और निर्यात होने वाला सामन रूपए में आई हुई तेज़ी से पहले के मुक़ाबले अब बहुत कम कीमतों पर मिलेगा और हमारा देश भी काफी ज्यादा आगे बढ़ेगा।

भारतीय share market लगातार ऊंचाइयों की और अग्रसर है एक समय जब इसकी शुरुआत हुयी थी वो शाल था 1990 का उस समय में तब Sensex सिर्फ एक हजार ही हुआ करता था पर आज के समय में यह  आंकड़ा अवशत के अनुसार लगभग पांच अंकीय संख्या तक के पास पहुँच गया है आज के समय में यह 30,000 से अधिक हो चूका है और हर दिन नए कीर्तिमान रच रहा है ।

[ Conclusion, निष्कर्ष ]

दोस्तों आशा करता हूं कि आपको मेरा यह लेख Sensex क्या होता है और Sensex कैसे बनता है आपको बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेकर मदद से वह सभी जानकारी को पूरे विस्तार से प्राप्त कर चुके होंगे जिसके लिए आप हमारे वेबसाइट पर आए थे।

दोस्तों हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है क्योंकि हमें मालूम है कि कोई सारे लोग ऐसे भी हैं जो जानना चाहते हैं कि आखिर Sensex क्या है और सीन सेक्स कैसे बनता है और Sensex के क्या-क्या फायदे हैं और Sensex में किस तरह से इन्वेस्ट किया जाता है।

इन सभी सवालों को जवाब देने के लिए हमने इस लेख को लिखा था और इस लेख में जितने भी बातें हमने बताया है वह सभी बातों को हमने कहीं ना कहीं से रिसर्च करके बताया है। और आप पर मेरा संपूर्ण विश्वास है की आप सभी मेरे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पढ़ चुके होंगे और Sensex से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त कर चुके होंगे।

अगर दोस्तों आपको इस पोस्ट में कहीं भी कोई भी किसी भी तरह को,पढ़ने में या किसी भी चीज में कोई भी दिक्कत हुई होगी तो आप हमारे कमेंट बॉक्स में बेझिझक कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं। हमारी समूह आपकी मैसेज के रिप्लाई जरूर देगी और आप यह भी कमेंट में जरूर बताएं कि यह पोस्ट Sensex क्या होता है और Sensex कैसे बनता है के बारे में जानकारी आपको कैसा लगा ताकि हम आपके लिए दूसरे पोस्ट ऐसे ही लाते रहे।

तो चलिए दोस्तों इसी जानकारी के साथ हम अब इस लेख को समाप्त करते हैं और अगर आपको हमरा यह पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद………

3 thoughts on “Sensex क्या होता है और Sensex कैसे बनता है ?”

Leave a Comment